Vichar Munch
माँ मेरी दुनिया

अजब हे ये दुनिया

अजब हे ये दुनिया और उसकी रीत

क्या कब बदल जाये किसीको खबर नहीं

पहले बी पॉजिटिव   कहा जाता था

पॉजिटिव लोगो के साथ रहा जाता था

पर बदल गयी  कोरोना के आने से दुनिया की रीत

अब तो पॉजिटिव कोई बना नहीं चाहता

ना पॉजिटिव के साथ रहना नहीं चाहता

नेगटिव अच्छे  सेफ और सुरक्षित लगने लगे

Akshata shetve tirodkar

Add comment

Follow us

Don't be shy, get in touch. We love meeting interesting people and making new friends.