Vichar Munch

WRITING IS AN ART THAT COMES FROM WITHIN.

Writing is an art that comes from within. Enhancing of emotions endured by living beings is done through writings. Situations aren’t just the falling of images on the retinal screen. Feelings are focussed. Mind scans the vision. The brain...

முதல் நாள் அன்று

முதல் நாள் அன்று: கடந்த வாழ்க்கையில் கரைந்த முதல் நாள் ஒன்று…. பாதை பார்த்து சென்ற நான் அவன் பாதம் பார்த்து செல்ல தொடங்கினேன்… அன்றோ நான் கேட்டதெல்லாம் அவன் பேச்சு,சுவாசித்ததெல்லாம் அவன் மூச்சு… காற்றோடு கரைந்தது நேரம் மட்டுமல்ல...

कहीं दूर न हो जाए कोई अपना

कब खत्म होगा शिकायत का सिलसिला  कहीं दूर न हो जाए हमसे कोई अपना । वक्त की आदत है ना ठहरने की  बिन माँगे गमों के संयम में डूबोने की। क्यों छोटे से सफर में है इतने गिले एक बार खुल कर जीवन तो जी ले। हर सुख है दामन में फिर भी मन बेचैन है ...

अजब हे ये दुनिया

अजब हे ये दुनिया और उसकी रीत क्या कब बदल जाये किसीको खबर नहीं पहले बी पॉजिटिव   कहा जाता था पॉजिटिव लोगो के साथ रहा जाता था पर बदल गयी  कोरोना के आने से दुनिया की रीत अब तो पॉजिटिव कोई बना नहीं चाहता ना पॉजिटिव के साथ रहना नहीं चाहता...

माँ

जिस माँ ने नौ महीने पेट में रखकर प्यार दिया , दुलार दिया , “तुम भूल गए”, जिस पिता ने हाथ थाम कर खुद गिर कर तुमको चलना सिखाया ” तुम भूल गए “, दो – चार दिन के प्यार के लिए तुमने अपने माँ – बाप को छोड़ दिया जिसने...

शाश्वत सत्य

गांव के बाहर एक साधु रहते थे। अचानक एक दिन एक काली छाया को गांव में जाते देख कर बोले तू कोन वो बोली मैं मौत हूं अभी जल्दी से कुछ लोगों को मारना है जरा महामारी फैला कर, साधु बोले कितने मरेंगे उसने कहा हजार एक बस—– कुछ दिन में पता चला करीब...

Vichar Munch

Vichar Munch is a platform where you can share all your Vichar with no restriction on any topic. Most of the time we are having so many Vichar in our mind but we didn’t get the platform to share. So, If you are looking for some blog site which allows you to share your thoughts and also motivate you by promoting your Vichar to popular social media accounts & websites. Vichar Munch also appreciates authors by running regular online writing competition on website and Instagram account. We suggest you to add minimum 500 words which help to increasing your Vichar reach to broad readers on web.

Blog, Post, Poem, Article, Stories, Thoughts, with no restriction on any topic, language, and words.

Latest Vichars

कलम

कलम

चौदा साल पहले हो गयी कलम से दोस्ती । ……. टूटी फूटी अक्षरों से पक्तियाँ जुड़ गयी। ……. धीरे धीरे सुर मिल गए उन पक्तियोंको । ……. और एक सुन्दर कविता बन गयी । ……. फिर उन टूटी...

The bus

“I’ve reached the station, Mumma. See you in half an hour” I said walking towards the bus station. I kept checking the time. It was 12:03 am. Nothing except the station lights looked bright that night...

This week’s hottest

एक किन्नर की कहानी, सुनिए मेरी जुबानी!

नर नारी पर लोग सवाल है उठाते इनके भेद भाव को हटाने के लिए जान लेने व देन पर भी उतर जाते आज की जनता इन पर बहुत गर्व है करती दूसरी तरफ हमें यू देखकर हंसती मनोरंजन का हमे यू पात्र बनाया कई लोगो को यह बात समझ भी आया नाच ...

Rishton ki mithas

Rishton mein jo mithas thi vo ab kahin kho si gyi, Jeene ka tarika Kya badla Rishton ne bhi karvatein le li.. Vo gujre din jab yaad aatein Aakhein namm ho jaati hai, Etni bheedon ke beech bhi Jese akelapan tadpati hai...

Follow us

Don't be shy, get in touch. We love meeting interesting people and making new friends.